महिला साथी को बिस्तर में कैसे खुश किया जाता है

8514
READ BY
What Do Indian Women Want In Bed
What Do Indian Women Want In Bed
Photo Credit: Bigstockphoto
Read this article in English
यह लेख हिन्दी में पढ़ें।

जब बात सेक्स की आती है, तो बहुत से मर्दों को लगता है कि उनके लिए खुद की महिला साथी को बिस्तर पर खुश करना बाएँ हाथ का खेल है। उन सबको लगता है कि वह इसके पीछे के रहस्य को जानते हैं। लेकिन, वास्तव में, ऐसे कुछ ही मर्द होते हैं, जो यह जानते है कि खुद की महिला साथी को बिस्तर पर कैसे खुश किया जाता है।

हांलाकि औरतों को बिस्तर में खुश करने के बारे में आपको अनगिनत वीडियो, किताबें, या ई-पुस्तकें मिल जाएंगी। पर दुःख की बात यह है कि इनमें से ज्यादातर सिर्फ कामुकता को बढ़ाने के उद्देश्य से लिखी जाती हैं और व्यर्थ की जानकारी से भरी हुई होती हैं। आज भी भारत जैसे देश में सेक्स के विषय पर बात करना एक अपराध से कम नहीं समझा जाता। शायद यही कारण है कि हम लोगों की सेक्स के बारे में सही जानकारी बहुत कम है और जब किसी को सेक्स संबंधी कोई परेशानी होती है, तो वह इलाज की बजाय इसे छुपाने लगता है। जहां तक खुद की महिला साथी को बिस्तर में खुश करने की बात है, तो कुछ न जानते हुए भी हर दूसरा भारतीय मर्द खुद को तीसमारखाँ समझता है। इस लेख में, हम आपको बताएँगे कि खुद की महिला साथी को बिस्तर में कैसे खुश किया जाता है।

1औरतों को कामुकता शांत करने में समय लगता है

हमें यह स्वीकार करना होगा कि सेक्स के दौरान हम मर्द स्वार्थी हो जाते हैं अर्थात हम अपनी कामुकता शांत करने को प्राथमिकता देते हैं। इसके लिए हम बिस्तर पर जाते ही, अपनी महिला साथी पर हावी होने की हर संभव कोशिश करते हैं और उनकी इच्छाओं को नज़रअंदाज़ कर देते हैं। हमें यह समझना होगा कि महिलाओं को उनकी कामुकता शांत करने के लिए मर्दों की तुलना में ज्यादा समय लगता है।

जरूर पढ़े – बड़ी उम्र की महिला के साथ बैडरूम में हावी कैसे हों

मर्दों की कामुकता संभोग के 4 से 8 मिनट बाद शांत हो जाती है और क्योंकि इतने समय में वह अपने चरम पर पहुँच जाते हैं। इसके विपरीत महिलाओं को चरम पर पहुंचने के लिए ज्यादा समय लगता है। ऐसे में, अगर आप मर्द होने के नाते सिर्फ अपनी कामुकता शांत करने के बारे में सोच रहें हैं, जो कि कुछ ही मिनटों में शांत हो जाती है, तो याद रखें, आप खुद की महिला साथी को निराशा की ओर धकेल रहें हैं।

इस प्रकार के यौन संबंधों में आपकी महिला साथी के लिए सिर्फ आपकी कामुकता को शांत करना ही एकलौता मकसद रह जाता है। वह किसी भी हिसाब से आपसे सेक्स करके खुश नहीं होगी।

इसलिए, अगर आप चाहते है कि वह भी आपके साथ सेक्स का आनंद लें, तो आपको लंबी अवधि के लिए सेक्स करना चाहिए और उनकी कामुकता के बारे में भी ध्यान रखना चाहिए। अतः, स्वार्थी न बने, बल्कि उनकी इच्छाओं का भी सम्मान करें।

2औरतों को संभोग से पहले खुद को सहलाया जाना पसंद है

पुरानी धारणाओं के मुताबिक, आदमी बिस्तर पर उस आग जैसा है, जो हल्की सी चिंगारी से भी जल उठता है। दूसरी तरफ, औरत बिलकुल पानी की तरह है, जो गर्म होने में समय लेती है और लंबे समय तक गर्म रहती है।

ज्यादातर महिलाओं को लंबे समय तक सहलाया जाना पसंद होता है। लेकिन, कुछ औरतें थोड़े समय सहलाए जाने पर ही संभोग के लिए तैयार हो जाती हैं। यदि आपकी महिला साथी भी ऐसी ही है, तो आपको उसे कितने समय के लिए सहलाना है, इस बारे में सोचना नहीं पड़ता।

आदर्श रूप से, एक आदमी को महिला की योनि तक तभी पहुँचना चाहिए, जब औरत की योनि गीली हो चुकी होती है क्योंकि ऐसा होना ही औरत के उत्साहित होने का संकेत होता है। कुछ महिलाओं को योनि के सूखेपन की शिकायत रहती है, लेकिन यह एक अलग समस्या है और इसके लिए प्राकृतिक तेल (जैसे नारियल के तेल) इत्यादि का उपयोग किया जा सकता है।

अगर योनि के खुश्क होने के बावजूद भी मर्द संभोग करने की कोशिश करता है, तो उसका ऐसा करना न केवल उसे परेशानी में डालता है, बल्कि योनि में भी दर्द और जलन पैदा करता है।

3औरतें सेक्स के दौरान चूमे जाने पर ज्यादा उत्साहित होती है

महिलाएं शिकायत करती हैं कि सेक्स के दौरान उनके पुरुष साथी उन्हें चूमने से कतराते हैं। शायद आप नहीं जानते कि चुंबन एक ऐसी अद्भुत चीज है, जो आपके एवं आपके साथी के संबंधों को गहरा बनाते हैं।

जरूर पढ़े –भारत में शादीशुदा जोड़ों के नाजायज संबंध एवं इन संबंधों के पीछे के कारण

चुंबन आवश्यक हार्मोन का आदान-प्रदान करने का माध्यम हैं। चुंबन न केवल दर्द दूर करने में, बल्कि कैलोरी नष्ट करने में भी मददगार साबित होते हैं। इनके अलावा चुंबन आपके आत्मसम्मान को बढ़ाते हैं और चेहरे की मांसपेशियों को भी कसते हैं। नियमित रूप से चुंबन करने वाले लोग बहुत स्वस्थ और खुश होते हैं।

4महिलाएं सेक्स में नयापन चाहती हैं

महिलाएं अक्सर शिकायत करती हैं कि वे (सेक्स के दौरान) अपने पुरुष साथी की हर चाल को पहले से ही जानती होती हैं। वे जानती हैं कि कब उनके पुरुष साथी उन्हें छुएंगे, कब चुंबन करेंगे और कितने समय में उनकी कामुकता शांत हो जाएगी

मेरी आप सब मर्दों से गुज़ारिश है कि अगर आप वास्तव में खुद की महिला साथी को बिस्तर पर खुश करना चाहते हैं, तो थोड़ा सा रचनात्मक बने। पुराने तरीकों से सेक्स करने की बजाय कुछ नयापन लाए।

5सेक्स के लिए सही समय का चुनाव करें

सेक्स के लिए सबसे बुरा समय शाम का होता है, जब हर कोई थका हुआ होता है। थका हुआ होने के कारण आपके रचनात्मक होने का सवाल ही पैदा नहीं होता।

सेक्स करने का सबसे अच्छा समय सुबह है।

ध्यान रखें कि एक थका हुआ शरीर और भरा हुआ पेट, आपके शीघ्र-पतन का कारण बन सकता है। खुद को रचनात्मक बनाते रहें एवं सेक्स संबंधी अपनी जानकारी में वृद्धि करते रहें। नए-नए तरीकों का प्रयोग करने में हिचकिचाए नहीं। सेक्स संबंधी ज्ञान में वृद्धि के लिए, दिन में 15 से 20 मिनट ज़रूर निकालें।

6महिलाएं चाहती हैं कि सेक्स करते समय पुरुष तीव्रता न दिखाएं

महिलाओं के अनुसार, संभोग के दौरान सबसे भयानक बात यह है कि जब उनके पुरुष साथी बहुत तीव्रता से सेक्स करते हैं। इस विषय में विशेषज्ञों ने मर्दों के उस विचार को खारिज किया है, जिसके मुताबिक उनका मानना है कि औरतों को संभोग के समय तीव्रता पसंद है।

जरूर पढ़े –वैवाहिक जीवन को खुशहाल बनाए रखने में सेक्स क्या भूमिका निभाता है?

उनके ऐसा करने के पीछे कई कारण हैं जैसे कि ऐसा करना दर्दनाक हो सकता है क्योंकि यह अक्सर गर्भाशय ग्रीवा के खिलाफ चला जाता है। विशेषज्ञों के मुताबिक नर जननांग धीरे-धीरे और शांत रूप से आगे बढ़ना चाहिए। जब नर अपने जननांग के केवल अगले हिस्से को योनि में डालता है, तो इससे महिला साथी का जी-स्पॉट उत्तेजित होता है। थोड़ा और आगे डालने पर, ए-सेक्शन और अंत में, यू-सेक्शन उत्तेजित हो जाता है।

तेजी से संभोग करना कुछ मामलों में अच्छा हो सकता है, लेकिन ऐसा करने से पहले आपको यह जान लेना चाहिए कि आप क्या कर रहे हैं और क्यों। मर्द होने के नाते आपको अपनी महिला साथी के शरीर को बारीकी से समझना चाहिए क्योंकि ऐसा करने के बाद ही आप यह समझ पाएंगे कि आपकी किस प्रतिक्रिया पर उनकी उत्तेजना बढ़ती या घटती है।

7महिलाएं चाहती है कि सेक्स के दौरान पुरुष भी भाग लें

महिलाएं कहती हैं, “जब उनके पुरुष साथी सेक्स के दौरान खुद कुछ न करके, उन्हें ही सब करने को कहते हैं, तो उनकी उत्तेजना खत्म हो जाती है अर्थात उनका सेक्स करने को दिल ही नहीं करता। पुरुष साथी के ऐसा करने पर महिला को लगता है कि उनका साथी सिर्फ खुद की कामुकता शांत करने के बारे में सोच रहा है और उनकी इच्छाओं के बारे में उसे कोई परवाह नहीं है।

सेक्स के दौरान कभी-कभी ऐसा करना ठीक लगता है, लेकिन अगर हर बार ऐसा ही हो, तो यह निश्चित रूप से आपकी महिला साथी को परेशान करेगा और वह आपके साथ बिस्तर में खुशी महसूस नहीं करेगी।

8महिलाओं को अच्छी स्वच्छता वाले पुरुष ज्यादा पसंद आते हैं

ज्यादातर महिलाओं का मानना है कि पुरुष खुद की स्वच्छता के बारे में ज्यादा चिंतित नहीं होते। ज्यादातर महिलाओं को चिकनी त्वचा वाले और मोटे मर्द आकर्षक नहीं लगते। इसमें बुरा मानने जैसे कुछ नहीं है क्योंकि मर्दों को भी ऐसी औरतें पसंद नहीं होती, जो अपनी सफाई का ध्यान नहीं रखती।

इसलिए अगर आप चाहते है कि आपकी महिला साथी आपके साथ बिस्तर में खुश हो, तो अपनी सफाई का खास ध्यान रखें। अपनी बगल, छाती, जांघों एवं टांगों इत्यादि के बालों को साफ रखें। इसके अलावा जननांगों के आसपास के क्षेत्रों को साफ रखें।

जरूर पढ़े – क्या आपको लगता है कि सेक्स के बिना रहना बहुत मुश्किल है?

शीघ्र-पतन अर्थात महिला साथी की कामुकता के शांत होने से पहले मर्द का चरम सीमा पर पहुँचना भी एक बहुत बड़ी समस्या होता है। हम पहले ही बता चुके हैं कि औरतों को कामुकता शांत करने में ज्यादा समय लगता है। ऐसे में, आपका खुद की कामुकता को शांत करके आगे बढ़ जाना उनको निराश करता है।

सेक्स को सिर्फ संभोग तक ही सीमित न रखें, बल्कि इसको आनंदमय बनाने के लिए थोड़ा रचनात्मक बने और अपने साथी की कामुकता का भी ध्यान रखें।

महिला संभोग के बारे में अपने ज्ञान में सुधार करें। एक महिला की शारीरिक संरचना को समझना बेहद जरूरी होता है क्योंकि ऐसा करके ही आप खुद की महिला साथी को बिस्तर में खुश कर सकते हैं।

Loading...