Photo Credit: pixabay.com
Livpure - Why Do You Need A RO Water Purifier for Home
Livpure - Why Do You Need A RO Water Purifier for Home
Read this article in English
यह लेख हिन्दी में पढ़ें।

लिवप्योर – घर के लिए आपको आरओ जल शोधक की आवश्यकता क्यों है

1654
Kumar Sunil

Kumar Sunil

Dreamer & Enthusiast

Creative. One word says it all for Sunil. A engineer, an enthusiastic and conscientious Information Technology consultant by profession, Sunil shares a special interest with entrepreneurship and lifestyle.

READ BY

कुछ साल पहले हमने गणना की थी कि हम बोतलबंद पानी के लिए एक महीने में कितना पैसा खर्च करते हैं और हमने पाया कि हम अपने अनुमान से कहीं ज़्यादा बोतलबंद पानी पर खर्च रहे है।

Livpure Glo 7-Litre
Livpure Glo 7-Litre RO + UV + Mineralizer Water Purifier

नल का पानी पीने लायक होता हैं, मगर अक्सर यह पानी अनिष्ट तत्व जैसे कि तलछट, परजीवी, सीसा, जंग, सॉल्वैंट्स, रसायन, क्लोरीन आदि मिलने से दूषित हो सकता है। आप यह भी जानते हैं कि बोतलबंद पानी जो कि प्लास्टिक के पैकजिंग में मिलता है, वह भी उन बोतलों को बनाने के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले कच्चे माल की वजह से पीने लायक नहीं होता है।

प्लास्टिक में उत्पादित उत्पादों को जहरीले पदार्थ की सामग्री दूषित कर सकती है, जैसे कि बिस्फेनॉल ए (बीपीए), बेंजीन और अन्य जहरीले पदार्थ जो अंत: स्त्रावी उलझन (अंत:स्त्रावी रोगों) और वजन घटने या घटाने के लिए प्रमुख रोल अदा करते हैं। यही कारण हैं, जिनकी वजह से घर में आरओ वाटर प्यूरीफायर होना बेहद जरूरी है। इसलिए हमने समान कीमत का आरओ जल शोधक (water purifier) खरीदने का फैसला किया।

अगर आपको एक अच्छा वाटर प्यूरीफायर खरीदना हो, तो आपको इंटरनेट से अनगिनत विकल्प मिल जाएँगे। उनमें से प्रत्येक वाटर प्यूरीफायर की विशेषताओं, व्यवहार्यता, और आरामदेहता के बारे में सहीं और विश्वसनीय जानकारी पाना कोई कठिन नहीं है। लेकिन इनमे से बहुत से उत्पाद अपने उत्पादों की तकनीकी उत्कृष्टता के बारे में बात ना कर के, मुद्दे को इधर उधर घूमते रहते है, और अपने उत्पाद की कमियों को छुपा लेते है।

घर के लिए हर वाटर प्यूरीफायर, फ़िल्टरिंग के अलावा आयोनाइझेशन प्रक्रिया (ionization functions) के साथ नहीं आता है। हम जानते हैं कि हमारे शरीर में 70% पानी है और पानी हमारे जीवन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, इसलिए पीने के लिए शुद्ध पानी होना अत्यावश्यक है।

आपको ऐसा वाटर प्यूरीफायर चाहिए जो जल को शुद्ध करने के साथ साथ उसमे से आवश्यक तत्वों को समाप्त ना होने दे। इस दौड़ में लिवप्योर आरओ वाटर प्यूरीफायर हमारी पहली पसंद बना। लिवप्योर आरओ वाटर प्यूरीफायर अनेक चरणों के उच्च परिशुद्धता निस्पंदन (high precision filtration ) के साथ आता है। इसी वजह से यह भारत का सबसे पसंदीदा आरओ वाटर प्यूरीफायर बनता जा रहा है। लिवप्योर आरओ वाटर प्यूरीफायर 12 लीटर की शुद्धिकरण क्षमता के साथ, पानी के शुद्धिकरण के लिए, आरओ+ यूवी+ यूएफ+ टेस्ट एनहांसर तकनीक का इस्तेमाल करता है अन्य वाटर प्यूरीफायर की कीमतों की तुलना में यह आरओ वाटर प्यूरीफायर का मूल्य भी एकदम उचित है।

लिवप्योर एक साधा वाटर फिल्टर नहीं है बल्कि एक वाटर आयोनाइझर (water ionizer) भी है लिवप्योर आरओ वाटर प्यूरीफायर पानी को छानने के अलावा पानी को दो धाराओं में विभाजित करता है, 1 क्षारीय (उच्च पीएच) और 1 अम्लीय (कम पीएच)। इसके साथ ही यह वॉटर प्यूरीफायर आयोनाइझेशन क्लस्टर का आकार कम करता है (जो कि स्वास्थ के लिए महत्वपूर्ण होता है), कई ऑक्सीजन अणुओं को बांधता है (पानी में ऑक्सीजन का स्तर बढ़ाता है),और कैल्शियम, मैग्नीशियम और पोटेशियम जैसे आयोनाइज़्ड खनिजों की एकाग्रता को बढ़ाता है।

यदि आपका रसोई घर छोटा है, तो आप अपने घर के लिए इस वाटर प्यूरीफायर को चुन सकते हैं। इसके अलावा, इसके स्लीक डिज़ाइन और आँखों को आकर्षक दिखने की वजह से आपके किचन की शोभा और भी बढ़ेगी। अन्य वाटर प्यूरीफायर की तुलना में, घर के लिए लिवप्योर आरओ वाटर प्यूरीफायर कई वितरण विकल्प (dispensing options) प्रदान करता हैं।

इस वाटर प्यूरीफायर में पानी शुद्ध करने की प्रक्रिया कई हिस्सों में बांटी गयी है। सबसे पहले निस्पंदन प्रक्रिया (filtration process ) जो नल के पानी से अशुद्धियों को हटाने से शुरू होती है ताकि पानी को नरम किया जा सके और पानी में सिलिकेट स्केल-उत्पादन वाले नमक का (chelates scale-producing salts ) निर्माण हो सके। फिर, क्लोरीन और कीटनाशकों जैसे जैविक अशुद्धियों को छानने के बाद, पानी में से कीटनाशकों, जड़ी-बूटियों, भारी धातुओं और टीएचएमएस (THMs) को हटाने के लिए एक और प्रक्रिया को किया जाता है। इस प्रकिया से, जीवाणु, वायरस और प्रोटोजोआ जैसे सूक्ष्म जीव जो स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होते हैं, वे भी समाप्त कर दिए जाते हैं।

इसके बाद खनिजीकरण प्रक्रिया शुरू होती है। यह प्रक्रिया पानी का स्वाद एवं गुणवत्ता वृद्धि के लिए होती है। इस प्रक्रिया से आवश्यक खनिजों को पानी में मिश्रित किया जाता है। यहाँ पर अल्ट्रावायलेट (ultraviolet -यूवी) कीटाणुशोधन की कार्यक्षमता उन तत्वों का ख्याल रखती है जो बैक्टीरिया, वायरस और प्रोटोजोआ के पीछे मुख्य कारण होते हैं।

इतनी लंबी निस्पंदन प्रक्रिया (long filtration process) के बाद, आखिरकार आपको पीने योग्य, स्वस्थ, और सुरक्षित पानी मिलता है।

शुरू में, आपको पानी के स्वाद में कड़वापन महसूस होगा। जैसे ही आप उस पानी के स्वाद का खुद को आदि बना लेंगे, आपको यह पानी अच्छा लगना लगेगा।

अब मुझे आपको यह बताने की ज़रूरत नहीं है कि खनिज संतुलन बनाए रखने के लिए पानी में कैल्शियम, मैग्नीशियम, जस्त, फास्फोरस, पोटेशियम, आयोडीन, सोडियम, क्लोरीन, फ्लोरीन जैसे महत्वपूर्ण खनिजों का होना अत्यावश्यक है।

इन सभी महत्वपूर्ण पोषक तत्वों से रहित पानी शरीर को रिहायड्रेट करने में मदद नहीं कर सकता और इसी वजह से मानव स्वास्थ पर प्रतिकूल असर पड़ता है।

Loading...