अमीरों की 7 मनोवैज्ञानिक तकनीकों के बारे में

सपना देखें | विश्वास करें | अम्ल में लाएं | दोहराएं

542
READ BY
Photo Credit: pixabay
Read this article in English
यह लेख हिन्दी में पढ़ें।
Kumar Sunil

Kumar Sunil

Dreamer & Enthusiast

Creative. One word says it all for Sunil. A engineer, an enthusiastic and conscientious Information Technology consultant by profession, Sunil shares a special interest with entrepreneurship and lifestyle.

मुख्य आकर्षण

  1. आप जहां जाना चाहते हैं, उस पर ध्यान दें, न की जहाँ आप हैं।
  2. हर हाल में उठना, तैयार होना, और हार न मानना ही जीत है।
  3. यदि आप अपने भय का सामना नहीं कर सकते, तो आप कभी भी कुछ नहीं बन पाएंगे।

किसी ने ठीक ही कहा है कि अगर आप गरीब पैदा हुए हैं, तो इसके पीछे आपका कोई कसूर नहीं है। लेकिन, अगर आप गरीब मरते हैं, तो ऐसा यकीनन आपकी ही नालायकी के कारण होता है।

साफ शब्दों में कहा जाए, तो जीतने के लिए किस्मत नहीं, हिम्मत की ज़रूरत होती है। क्या आपने कभी सोचा है कि कुछ लोग ज़मीन से उठकर आसमान की बुलंदियों को कैसे छू लेते हैं अर्थात गरीबी के दलदल से निकल कर, अमीरों में अपना नाम कैसे शामिल करवा लेते हैं? वास्तव में, यह किस्मत का नहीं, सामाजिक मनोविज्ञान का विषय है। आइए, आज हम आपको अमीरों की 7 मनोवैज्ञानिक तकनीकों के बारे में बताते हैं।

ज़रूर पढ़े – 10 चीज़े जो जितनी जल्दी हो सके शुरू कर देनी चाहिए

1करोड़पति लोग टेलीविज़न या सिनेमा देख कर अपना समय बर्बाद नहीं करते

हम आम लोगों की तरह, करोड़पति लोग टेलीविज़न पर सप्ताह-दर-सप्ताह बिग बॉस देखकर या नेटफ्लिक्स पर फ़िल्में देखकर अपना समय बर्बाद नहीं करते। वह जानते हैं कि समय का सदुपयोग कैसे किया जाता है और अपनी ऊर्जा को किस दिशा में लगाने का फायदा है। जिस वक़्त हम वास्तविकता से परे इमोशनल नाटक देख रहे होते हैं, वह लोग खुद की ज्ञान-वृद्धि के लिए किताबें या वीडियो देख रहें होते हैं। हम सबके पास निर्धारित समय है और हम उस समय को कैसे इस्तेमाल करते हैं, हमारी आर्थिक तरक्की इसी बात पर निर्भर करती है। लेकिन, यह जानते हुए भी कि बेकार के कामों में समय व्यर्थ करके कोई फायदा नहीं होता, हम में से 99% लोग वही करते हैं और गरीबी के दलदल में रहते हैं।

2अमीर लोग सही लोगों से अपना मेल-जोड़ बढ़ाते हैं

अमीर लोग बहुत ही सामाजिक एवं मिलनसार होते हैं। लेकिन, वह व्यर्थ के लोगों से मिलकर अपना समय नष्ट करने के बजाय हमेशा बढ़े और रसूख वाले लोगों की संगत में रहना ज़्यादा पसंद करते हैं। वह जानते हैं कि ऐसा करने से न केवल उनके व्यापार में वृद्धि होगी, बल्कि उनकी सामाजिक पकड़ भी बढ़ती है। वह इस बात को समझते हैं कि सही समय पर, सही जगह और सही लोगों को जानना ही सफलता की कुंजी है।

जरूर पढ़े – वास्तविक जीवन में सफलता की कहानी – जब आप ना कहना चाहते हों, तो ना ही कहें

3वे अपने अंतर्ज्ञान पर भरोसा करते हैं और निर्णय लेने में ज़्यादा समय नहीं लगते

हम लोग फैसला लेने में बहुत समय लगाते हैं और कई बार तो सिर्फ विचार ही करते रह जाते हैं। लेकिन , अमीर लोगों के मुताबिक, आप फैसला लेने में जितना अधिक समय लेंगे, उतना ही आप सही फैसले से दूर हो जाएंगे। अमीर लोग, अपने अंर्तज्ञान पर भरोसा करते हैं और फैसला लेने से पहले लोगों की राय के बारे में ज़्यादा सोचते नहीं हैं। ऐसा नहीं है कि वह बिना सोचे-समझे फैसला ले लेते हैं। अमीर लोग भी फैसला लेने से पहले, उस फैसले के फायदों और नुकसानों के बारे में विचार कर लेते हैं। पर फर्क सिर्फ इतना है कि वह ऐसा करने में ज़्यादा समय व्यर्थ नहीं करते।

4लड़े बिना जंग नहीं छोड़ते और कभी हार नहीं मानते

हम में से बहुत लोग जंग के बादल देख कर ही, हार मान जाते हैं अर्थात मुसीबत को दूर से देख कर ही डर जाते हैं। हम जंग लड़ने से पहले ही शांति का सफेद झंडा फहराने लगते हैं। लेकिन, इसके विपरीत, अमीर लोग जंग को अंत तक लड़ते हैं। ऐसा नहीं है कि उनको लोगों के विरोध और नकरात्मक प्रतिक्रियाओं का सामना नहीं करना पड़ता, पर यह चीज़े उनको विचलित नहीं करती और न ही वह इन सब के बारे में ज़्यादा सोचते हैं।

5सपनों को लिए ज़िद्द और सनक

अमीर लोगों में सपनों को लेकर सनक और ज़िद्द दोनों होती है। वह अगर किसी चीज़ को पाने का मन बना लेते हैं, तो फिर उसे हासिल करके ही छोड़ते हैं।

इसके विपरीत, हम लोग बहुत जल्दी हार मान जाने वाले होते हैं। हमसे बहुत लोग या तो सपना देखते ही नहीं है या फिर पूरा न होने पर, सपना ही बदल डालते हैं। यहीं हम लोग अमीरों से अलग हो जाते हैं।

जरूर पढ़े – अस्वीकृति से निपटना और ज़िन्दगी में आगे बढ़ना

6अमीर लोग सुबह का लुत्फ़ उठाते हैं और हमेशा खुश रहते हैं

स्वस्थ शरीर, स्वस्थ दिमाग के बारे में हम सब जानते हैं। फिर भी, हम अपनी ज़िन्दगी से तनाव और आलस्य को नहीं निकाल पाते या साधारण शब्दों में कहा जाए तो निकालना नहीं चाहते। इसके विपरीत, अमीर लोग ऐसे नहीं होते। करोड़ों रुपयों के निवेश का तनाव होने के बावजूद भी वह खुश रहते हैं और हर सुबह का लुत्फ़ लेते हैं। कुछ लोग कहते हैं कि पैसे की चिंता न होने की वजह से वह ऐसा कर पाते हैं। पर ऐसा सोचना गलत है। वह ऐसा कर पाते हैं, शायद इसलिए उनके पास पैसा होता है।

7वह कभी बोर नहीं होते

हम लोग किसी काम को कुछ समय तक करने के बाद बोर होने लगते हैं और इसी वजह से हमें कामयाबी नहीं मिलती। वास्तव में , हम परिणामों की अपेक्षा बहुत जल्दी करने लगते हैं। इसलिए जब हमें कोई मन चाहा परिणाम नहीं मिलता, तो हम ऊबने लगते हैं और काम में दिलचस्पी लेना छोड़ कर, फेसबुक में अपना समय व्यर्थ करने लगते हैं। इसके विपरीत, अमीर लोग ऐसी गलतियां नहीं करते और काम में दिलचस्पी बनाए रखने के लिए नए-नए तरीके खोजते रहते हैं।

क्या इस विषय में आपका कोई प्रश्न हैं ? हमारे विशेषज्ञ से ज़रूर पूंछे।

किसी ने ठीक ही कहा है कि अमीर और कामयाब लोग कोई नया काम नहीं करते, बस हर काम को नए तरीके से करते हैं। जिस मुकाम पर आकर हम लोग सोचना और संघर्ष करना छोड़कर घुटने टेककर दौड़ से बाहर हो जाते हैं, उसी जगह से अमीर लोग अपनी दौड़ को शुरू करते हैं।

इस विषय में आप क्या सोचते हैं ? अपनी राय हमें ज़रूर बताएं।

Loading...