Warning: Declaration of td_module_single_base::get_image($thumbType) should be compatible with td_module::get_image($thumbType, $css_image = false) in /home/customer/www/bestofme.in/public_html/wp-content/themes/bestofme-child/includes/wp_booster/td_module_single_base.php on line 86

कैसे आप भी अगले 15 सालों में करोड़पति बन सकते हैं

3036
READ BY
How to Save ₹1 Crore in 15 Years and be a Millionaire
How to Save ₹1 Crore in 15 Years and be a Millionaire
Photo Credit: Pixabay
Read this article in English
यह लेख
Warning: Use of undefined constant हिन्दी - assumed 'हिन्दी' (this will throw an Error in a future version of PHP) in /home/customer/www/bestofme.in/public_html/wp-content/themes/bestofme-child/functions.php on line 347
हिन्दी में पढ़ें।

Kumar Sunil

Dreamer & Enthusiast

Creative. One word says it all for Sunil. A engineer, an enthusiastic and conscientious Information Technology consultant by profession, Sunil shares a special interest with entrepreneurship and lifestyle.

HIGHLIGHTS

  1. अच्छी योजनाओं में निवेश करें।
  2. जोखिम भरे निवेश से बचें।
  3. अपनी सेवानिवृत्ति की योजनाओं की समीक्षा करते रहें।
  4. अपने खर्च करने की आदतों पर नियंत्रण रखें।
  5. अभी तंगी देख लो और बाद में आनंद लो।

इसमें कोई हैरानी नहीं है कि आजकल के लोगों, खासतौर पर नौजवानों ने, ज़िंदगी जीने के अपने ही फॉर्मूले बना लिए हैं। उनके हिसाब से वर्तमान में जीना ही असली जीना है और भविष्य के बारे में सोचने का कोई लाभ नहीं है। उनके मुताबिक ऐसे समय की चिंता करके क्या लाभ जिसके बारे में न कोई जानता है और न ही जान सकता है। पर यह वास्तविकता से बिल्कुल परे है। मुसीबते उन वसूली एजेंटों की तरह है, जो आपके द्वारा लिए कर्ज के भुगतान के लिए कभी भी आपके घर पहुँच जाते हैं और आपकी इज़्ज़त की धज्जियां उड़ा देते हैं। ऐसी ही कोई आर्थिक मुसीबत अगर बुढ़ापे में आपको घेर ले, तो आपके लिए न केवल इससे बच पाना, बल्कि इसके हमले के बाद फिर से खड़ा हो हो पाना भी बहुत मुश्किल हो सकता है। इससे बचने के लिए आपको पहले से कुछ धन बचा कर रखना चाहिए। क्या आपने कभी सोचा है कि बचपन में आपके माता-पिता ने आपको गुल्लक क्यों ला कर दी थी? वह आपको बचत की आदत डालना चाहते थे।

जरूर पढ़े – धन और विवाह – पैसे की वजह से टूटते शादीशुदा रिश्ते

एक वित्तीय सलाहकार होने के नाते मैं बहुत से ऐसे लोगों से मिलता हूँ, जो आर्थिक रूप से परेशानी में हैं। उनमें से अधिकतर लोग यही कहते हैं कि वह इसलिए बचत नहीं कर पाते क्योंकि उनकी आय कम है। उनका कहना है कि उनके भाई-बंधू की बचत उनसे कहीं ज्यादा है क्योंकि या तो उनकी आय ज्यादा है, या फिर आय का स्रोत कई हैं। बहरहाल, जो भी हो, मेरे इस लेख का मकसद आपको बुरा महसूस करवाना नहीं, बल्कि यह बताना है कि कैसे आप भी अगले 15 सालों में करोड़पति बन सकते हैं। चाहे आप ज़िन्दगी के 40वें वर्ष में ही क्यों न हो, अगर आप आज से भी शुरू करेंगे, तो आप आज से ठीक 15 साल बाद खुद को करोड़पति बना देखेंगे।

आप कौन से आय वर्ग में आते हैं, इस बात से कोई लेना-देना नहीं है। चाहे आप निम्न आय वर्ग में हैं, चाहे मध्यम आय वर्ग में या फिर उच्च आय वर्ग में, जैसे ही आप अपना 40वां जन्मदिन मनाते हैं, आपको आने वाले समय के लिए तैयारी शुरू कर देनी चाहिए। एक मित्र के रूप में, मेरी आपसे सलाह है कि अपनी वर्तमान आय का 10-15% बचाना शुरू करें।

अपनी जीवन शैली में कटौती करें, अपने खर्चों को कम करें, व्यर्थ की सुख-सुविधाओं को छोड़ दें, बाहर घूमना फिरना छोड़ दें। संक्षेप में, पैसा बचाने के लिए जो बन पड़े, करें। आपको अपने खर्चों को नीचे लाने एवं बचत को बढ़ाने का हर संभव प्रयास करना चाहिए। अब सवाल यह है कि इस तरह से बचाए पैसे का किया क्या जाए? इसके बारे में जानने के लिए, यह लेख अंत तक पढ़ें।

ईपीएफ या वीपीएफ - कर्मचारी भविष्य निधि या स्वैच्छिक भविष्य निधि

आपको इन सरकारी योजनाओं में निवेश करना चाहिए और शुरुआत सिर्फ उतनी राशि से करनी चाहिए, जितनी आप आसानी से कर सकें। अगर आप ईएफपी के दायरे में आते हैं, तो अपने नियोक्ता से अपने हिस्से को 12% से ज्यादा बढ़ाने के लिए कहें। यह अतिरिक्त योगदान 8.5% की समान राशि अर्जित करने वाला है और सबसे अच्छी बात यह है कि इसकी आपको आयकर में धारा 80 सी के तहत कटौती भी मिलेगी।

जरूर पढ़े – अधिक बचत करके भारत में अमीर कैसे बनें

वीपीएफ के मामले में, अर्जित ब्याज पीएफ या पीपीएफ से कम है। यदि आप ईपीएफ के अंतर्गत नहीं आते हैं, तो आप पीपीएफ के लिए जा सकते हैं। लेकिन यहाँ आप सालाना 1 लाख से अधिक नहीं बचा सकते हैं। अगर आप एक लाख से ज्यादा बचाना चाहते हैं, तो एनपीएस अर्थात राष्ट्रीय पेंशनर योजना के बारे में पता करें। 15 साल में 1 करोड़ बचाने के लिए आपको 15 साल तक हर महीने 27,641 रुपए बचाना होगा।

बैंक में फिक्स्ड डिपॉजिट करवाना

बैंक में फिक्स्ड डिपॉजिट करवाएं क्योंकि इनसे आपको अच्छी मात्रा में ब्याज मिल सकता है। यह आपको टैक्स स्लैब के अनुसार परिपक्वता और अर्जित ब्याज पूरी तरह से कर योग्य होने के बाद गारंटीड रिटर्न का आश्वासन दे सकता है। इस योजना की एकमात्र समस्या ब्याज दर में उतार-चढ़ाव है। आपको ब्याज दरों के बारे में सतर्क रहने की जरूरत है। 15 साल में 1 करोड़ बचाने के लिए आपको 15 साल तक हर महीने 30,201 रुपए बचाना होगा।

जीवन बीमा

“एलआईसी में निवेश करें।” बाजार में कई जीवन बीमा योजनाएं उपलब्ध हैं। लेकिन, एलआईसी की जीवन आनंद एक उच्च रिटर्न वाली एलआईसी पॉलिसी है। यह जीवन बीमा पॉलिसी न केवल आपकी मृत्यु के बाद आपके परिवार को वित्तीय सुरक्षा प्रदान करती है, बल्कि किए गए निवेश पर उच्च प्रतिफल भी देती है। 15 वर्षों में 1 करोड़ बचाने के लिए आपको 15 वर्षों तक हर महीने 37,000 रुपए बचने की जरूरत है।

सोना और संपत्ति

सोने और संपत्ति में किया गया निवेश आपको शानदार परिणाम दे सकता है। हालांकि, इन निवेशों के लिए रिटर्न की कोई मानक दर नहीं है। लेकिन, कुछ मामलों के अनुसार – वापसी का प्रतिशत 8-10% होती है। जब आप बेचते हैं तो संपत्ति आपके कर के बोझ को कम करती है और आपको किराये की आय भी दिला सकती है। 15 साल में 1 करोड़ बचाने के लिए आपको 15 साल तक हर महीने ₹26,127 बचाने होंगे।

जरूर पढ़े – पारिवारिक वित्तीय स्थिरता बनाए रखने के लिए 5 सुझाव

इक्विटी म्यूचुअल फंड

निवेश पर 12% – 14% से अधिक के मुनाफे से बेहतर और क्या हो सकता है? लंबी अवधि तक निवेश बने रहने पर इक्विटी म्यूचुअल फंड आपको छोटे योगदान पर भी अधिकतम परिणाम दे सकता है। लेकिन, यह एक जोखिम भरा निवेश है और यही कारण है कि इसकी ब्याज दर शानदार है। जोखिम बाजार के बुल और बेयर रुझान से जुड़े हैं। 15 वर्षों में 1 करोड़ बचाने के लिए आपको हर महीने ₹14,000 बचाने होंगे।

इसके अलावा, आपको अपनी वित्त संबंधी आदतों पर कड़ी नजर रखनी होगी।

जोखिम भरा निवेश न करें

मैंने लोगों को स्टॉक और अन्य जोखिम भरे क्षेत्रों में निवेश करते देखा है। उन निवेशों के लिए, उन्हें योजनाकारों / दलालों के निर्णय पर निर्भर रहना पड़ता है। यहाँ मैं कहना चाहूंगा कि अगर आप स्टॉक एक्सचेंज के बारे में जानकारी नहीं रखते, तो इस क्षेत्र में पैसे निवेश न करें। सच यह है कि आप बाजार की स्थितियों को नियंत्रित नहीं कर सकते हैं और खुद की बचत और व्यय को ही नियंत्रित कर सकते हैं। इसलिए, बेहतरी इसी में है कि ऐसे किसी भी चीज पर निवेश न करें, जिस पर आपका कोई नियंत्रण ही न हो।

खर्च की आदतें

अपने खर्च करने की आदतों को काबू में रखें। अगर आपको लगता है कि आप बहुत खर्चीले इंसान हैं, तो खरीदारी के समय अपना क्रेडिट कार्ड साथ न लेकर जाएं। केवल नकद ही लेकर जाएं। इस तरह, आप अपने बेकार के खर्चों का प्रपर रोक लगाने में सक्षम हों जाएंगे। यहाँ मुझे वारेन बफे की कही एक बात याद आती है कि, “यदि आप उन चीजों पर खर्च करते हैं जिनकी आपको जरूरत नहीं है, तो आपको जल्द ही अपनी जरूरत की चीजें को बेचना पड़ सकता है।”

जरूर पढ़े – पैसिव इनकम के 5 स्रोत – कम मेहनत और ज़्यादा आय

सेवानिवृत्ति योजना

अपनी सेवानिवृत्ति योजना को बहुत सावधानी से चुनें और समय-समय पर इसकी समीक्षा करते रहें। ज़िन्दगी बहुत ही अनिश्चित है और हादसे कभी भी हो सकते हैं। मैं एक ऐसे व्यक्ति को जानता हूं जिसने अपनी सेवानिवृत्ति योजना के रूप में लगभग 3 करोड़ बचाने की योजना बनाई थी, लेकिन उसके नियोक्ता द्वारा धोखा दिए जाने के बाद, उसे पीएफ का एक बड़ा हिस्सा खोना पड़ा था। फिर उसने अपनी योजना की समीक्षा की और इसमें बदलाव किया।

तथ्यात्मक रूप से, आप अपनी सीमा से नीचे नहीं जा सकते हैं। इसलिए, आप जितना निवेश आसानी से कर सकते हैं, उतना ही करें।

Loading...